You have to wait 20 seconds.


अलीगढ़ में खेत में सो रहा मजदूर झोपड़ी समेत जला, मौत

SDLive News

अलीगढ़ में खेतों की रखवाली कर रहे मजदूर की दर्दनाक मौत हो गई है। खेत में काम करने के बाद वह रखवाली के लिए रात में वहीं रुक गया था। इस दौरान वह खेत में बनी झोपड़ी में ही सो गया। रात में झोपड़ी में आग लग गई और झोपड़ी और मजदूर दोनों जलकर खाक हो गए।

सुबह जब दूसरे किसान अपने खेत पर पहुंचे तो उन्हें घटना की जानकारी हुई, जिसके बाद उन्होंने इसकी सूचना तुरंत पुलिस को दी। घटना की जानकारी मिलने के बाद सीओ बरला अभय कुमार पांडेय, इंस्पेक्टर महामाया प्रसाद समेत विभिन्न फोर्स मौके पर पहुंची और शव को कब्जे में लिया। लेकिन तब तक मजदूर का शव पूरी तरह से जलकर खाक हो गया था।

नानऊ गांव के माजरा नगला की घटना

घटना बरला थाना क्षेत्र के गांव नानऊ के माजरा नगला की है। गांव का ही राजू (35) पुत्र पूरन सिंह लोगों के खेतों में मजदूरी करता था। मजदूरी करने के साथ ही वह खेतों में रुककर रात में उनकी रखवाली भी करता था, जिससे कि कोई पशु फसलों को नुकसान न पहुंचा दे।

रविवार रात को भी वह मटर के खेतों में काम करने के बाद वहां बनी झोपड़ी में ही सो गया था। लेकिन इस दौरान अज्ञात तरीके से झोपड़ी में आग लग गई और राजू की इस आग में जलकर दर्दनाक मौत हो गई। झोपड़ी में आग कैसे लगी अब पुलिस इस बारे में जांच कर रही है।

लोगों ने बताया कि राजू अपने घर में सबसे छोटा भाई था। उसकी पत्नी की कई साल पहले बीमारी से मौत हो चुकी है। जिसके चलते वह कभी-कभी शराब भी पी लेता था। जिसके कारण लोग अनुमान लगा रहे हैं कि उसने शराब पी ली होगी और उसे आग लगने का पता नहीं चल पाया।

घटना के पहलुओं की जांच कर रही पुलिस

मामले की जानकारी मिलने के बाद सीओ, इंस्पेक्टर सभी मौके पर पहुंचे और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा। वहीं अधिकारी अब हादसे की जांच कर रहे हैं कि झोपड़ी में आग लगी थी या फिर किसी ने लगाई थी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट का भी इंतजार किया जा रहा है।

सीओ बरला अभय कुमार पांडेय ने बताया कि झोपड़ी में आग लगने के कारण मजदूर की दर्दनाक मौत हुई है। मामले की जांच की जा रही है और आग लगने के कारणों का भी पता लगाया जा रहा है। जांच के आधार पर आगे की कानूनी कार्रवाई की जाएगी। अगर किसी ने यह जानबूझकर किया है तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी।

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने